इन पांच कारणों से भारत के अहम् राज्यों में से एक है असम

0
  1. असम की छद्म राजधानी है – गुवाहाटी
    हम सभी जानते हैं कि असम की आधिकारिक राजधानी दिसपुर है| लेकिन क्या आपको पता है? असम का हाईकोर्ट, नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, आईआईटी, डीजीपी हेडक्वार्टर और सारे महत्वपूर्ण दफ्तर गुवाहाटी में स्थित होने के कारण गुवाहाटी असम के गैर-आधिकारिक राजधानी के तौर पर काम करता है. गुवाहाटी पूर्वोत्तर भारत का सबसे बड़ा नगर है।
  2. असम राज्य का अपना अलग राज्य गान है
    देश के दूसरे राज्यों के इतर असम राज्य का अपना अलग राज्य गान है. इस राज्य गान को लक्ष्मीकांत बेजबरुआ ने रचा था.असम सरकार ने साहित्यार्थी लक्ष्मीनाथ बेजबरुआ के गीत ओ मोर अपनार देश को राज्यगान के रूप में अंगीकार किया है।
  3. विदेशों से आये पक्षियों की सामूहिक आत्महत्या की जगह भी असम
    दक्षिणी असम के ‘दिमा हासो जिले’ की पहाड़ी घाटी में बसे जातिंगा नामक गांव को एक रहस्यमयी जगह के तौर पर जाना जाता है. यहां हर साल सैकड़ों की संख्या में पक्षी तेज रफ्तार से आते हैं और पेड़ों, इमारतों से टकराकर खुद की जान ले लेते हैं. जतिंगा को लेकर माना जाता है कि यहां एक बार अगर अप्रवासी पक्षी आ जाए तो फिर वापस नहीं जा पाते, इस गुत्थी को अब तक वैज्ञानिक भी नहीं सुलझा सके हैं.
  4. असम की ब्रम्हपुत्रा नदी नहीं बल्कि नद है
    अगर हम हिन्दू मिथकीय कहानियों की मानें तो ब्रम्हपुत्रा नदी को नद (पुरुष) के तौर पर जाना-माना जाता है लेकिन आम बोलचाल में इसे नदी कहा जाने लगा. यह अपने तरह का एक अजूबा मामला है.ब्रह्मपुत्र नदी असम के लिए वैसे तो वरदान है, किन्तु जब वह कुपित होकर जब अपना विकट रूप धारण करती है तो असमवासियों का बहुत कुछ हरण भी कर लेती है.
  5. शराब है असम राज्य का मुख्य पेय पदार्थ
    क्या आप जानते हैं असम के लोग शराब को अलग-अलग विधा से तैयार करते हैं और यहां कई क्वालिटी की शराबें मिलती हैं. असम एक ऐसा राज्य है जहां शराब निषिद्ध नहीं है और लोग अपने-अपने घरों में भी शराब बनाते हैं.
टिप्पणियाँ लिखे

आपका ईमेल प्रकाशित नहीं किया जाएगा।