पर्यटकों का स्वर्ग है केरल की वाणिज्यिक राजधानी – एर्नाकुलम

0

एर्नाकुलम – कोच्ची, इन दो जुडवा शहरों में से एर्नाकुलम ज़्यादातर शहरी इलाका है जो की एर्नाकुलम जिले में स्थित है। एर्नाकुलम शहर का नाम यहाँ के प्रसिद्द शिव मंदिर एर्नाकुलाथाप्पन के नाम पर पड़ा है। एर्नाकुलम अपने व्यवसायिक विकास के लिए जाना जाता है और केरल के इतिहास में इसका एक महत्वपूर्ण स्थान है।

दावतें और उत्सव
वाणिज्यिक विकास के अलावा, इस शहर की एक समृद्ध संस्कृति,यहाँ के त्योहारों के दौरान उजागर हुई है जो यहाँ के स्थानीय लोगो और पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं।

पर्यटकों का स्वर्ग!
एर्नाकुलम हमेशा से ही पर्यटकों का गंतव्य रहा है। राजकुमारी स्ट्रीट, बोल्घटी पैलेस,कोच्चि समुद्र तट से लेकर चोट्टानिक्करा मंदिर, एर्नाकुलम में वो सब कुछ है जो एक पर्यटक का सपना होता है. दिलचस्प है की एर्नाकुलम भारत का पहला धूम्रपान मुक्त पर्यटन स्थान है। एर्नाकुलम कई पर्यटन स्थलों के भ्रमण का केंद्र रहा है। यह उन पर्यटकों के लिए एक उत्तम स्थान है जिन्हें व्यस्त भीड़ में घूमना पसंद है। एर्नाकुलम हमेशा ही लोगों से भरा होता है, यह स्थान अपने शॉपिंग स्ट्रीट, मॉल एवं पार्क के लिए जाना जाता है। यहाँ हर किसी के लिए कुछ न कुछ है!

वाहन और कनेक्टिविटी
एर्नाकुलम, केरल का एक ऐसा शहर है जो देश के अन्य प्रमुख शहरों से जुड़ा है। नेदुम्बस्सेरी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के कारण दुनिया के किसी भी कोने से यहाँ की यात्रा करना आसान हो गया है। शहर और राज्य के अन्य प्रमुख स्थानों की यात्रा के लिए भी बसें और ट्रेन उपलब्ध हैं।

टिप्पणियाँ लिखे

आपका ईमेल प्रकाशित नहीं किया जाएगा।