बांस के जंगलों और आम के पेड़ों के बीच करें उत्तरप्रदेश के बस्‍ती की सैर

0

बस्‍ती, उत्‍तरप्रदेश के बस्‍ती जिले में स्थित एक शहर है। इस शहर पर प्राचीन काल में कई वंशों ने शासन किया और क्षेत्र की सास्‍ंकृतिक विरासत पर अमिट छाप छोड़ी है। बस्‍ती शहर 1865 में अस्तित्‍व में आया, यह शहर बांसों के जंगलों और आम के पेड़ों से घिरा हुआ है। वास्‍तव में, बस्‍ती में काफी हरियाली है जो शहर की हलचल और गतिविधियों से राहत प्रदान करती है।

बस्‍ती और उसके आसपास में स्थित पर्यटन स्‍थल

बस्‍ती में कई आकर्षण हैं जिनमें से एक चंडो ताल है जो एक प्रसिद्ध पिकनिक स्‍पॉट है। बस्‍ती का अन्‍य आकर्षण बाराह गांव है जो बस्‍ती शहर के पास ही स्थित है। कई पौराणिक कथाओं में इस छोटे से गांव के कार्यो का काफी उल्‍लेख पढ़ने को मिलता है। इस गांव में एक छोटा सा मंदिर भी है जो भगवान शिव को स‍मर्पित है। यहां स्थित बदेश्‍वरनाथ मंदिर, कुवाना नदी के तट पर स्थित है जो पर्यटकों को काफी आकर्षित करती है। जबकि बस्‍ती में आकर पर्यटक, राष्‍ट्रीय वन चेतना केंद्र और बागवानी अनुसंधान एवं विकास प्रशिक्षण केंद्र पर भी जा सकते है। अगर आप बस्‍ती में आकर स्‍थानीय शॉपिंग करना चाहते है तो पक्‍के बाजार की ओर रूख करें, यहां अच्‍छे कपड़े और स्‍थानीय शिल्‍प मिलते है।

बस्‍ती कैसे पहुंचे

बस्‍ती तक वायु, रेल और सड़क मार्ग के द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है।

बस्‍ती के भ्रमण का सबसे अच्‍छा समय

बस्‍ती की सैर का सबसे अच्‍छा समय नवंबर से मार्च के बीच का होता है।

टिप्पणियाँ लिखे

आपका ईमेल प्रकाशित नहीं किया जाएगा।