भारत के सबसे पुराने शहरों में से एक है देहरादून

दून वैली के रूप में लोकप्रिय, देहरादून, उत्तराखंड राज्य की राजधानी है। गंतव्य समुद्र स्तर से 2100 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और शिवालिक पर्वतमाला की तलहटी में स्थित है। देहरादून के पूर्व में गंगा नदी बहती है, जबकि यमुना नदी पश्चिम को बहती है। देहरादून का नाम ‘देहरा’ अर्थ ‘शिविर’ और ‘दून’ अर्थ ‘पहाड़ों के तल पर नीची भूमि’ शब्दों से उत्पन्न हुआ है। रिकॉर्डों के मुताबिक, मुगल सम्राट औरंगजेब ने, राम राय, दून के जंगलो के सिख गुरू का देश निकाला कर दिया था, जहां राम राय ने एक शिविर और एक मंदिर का निर्माण कराया था। जगह का उल्लेख महत्‍वपूर्ण भारतीय महाकाव्यों, अर्थात् रामायण और महाभारत में भी मिलता है। यह माना जाता है कि हिंदू भगवान राम, अपने भाई लक्ष्मण के साथ, असुर राजा रावण की हत्या करने के बाद देहरादून आये थे। एक और कहानी से पता चलता है कि गुरु द्रोणाचार्य भी एक समय में यहाँ रहते थे। यहाँ पाये जाने वाले प्राचीन मंदिर और खंडहर लगभग 2000 साल पुराने हैं।

देहरादून कैसे पहुँचे

गंतव्य देश के अन्य भागों से हवाई, रेल और सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। जॉली ग्रांट हवाई अड्डा शहर के मध्‍य से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह नियमित उड़ानों द्वारा इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, नई दिल्ली से जुड़ा है। यह गंतव्य के लिए निकटतम अंतरराष्ट्रीय एयरबेस है। देहरादून रेलवे स्टेशन एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है, जो दिल्ली, वाराणसी और कोलकाता जैसे कुछ शहरों के साथ गंतव्य को जोड़ता है। यात्री राज्य और निजी बस सेवाओं का लाभ उठाकर भी जगह तक पहुँच सकते हैं।देहरादून के लिए नई दिल्ली से नियमित डीलक्स बसें उपलब्ध हैं।

देहरादून का मौसम

वर्ष के अधिकांश समय के लिए देहरादून की जलवायु सामान्य रहती है। समुद्र तल से ऊंचाई पर निर्भर होते हुए यहाँ की जलवायु जगह-जगह भिन्न हो सकती है। यहाँ गर्मियां काफी गर्म होती हैं, जबकि सर्दियां सुखद होती हैं। यहां ठंडी सर्दियों के महीनों के दौरान कभी-कभी बर्फबारी भी होती है। यात्री जनवरी को छोड़कर, वर्ष के किसी भी समय देहरादून की यात्रा की योजना बना सकते हैं, क्योंकि इस दौरान यहां भारी बर्फबारी हो सकती है।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.