मेरा भारत

0

मेरा भारत। ये एक ऐसा विषय है जिस पर बात करने में हर भारतीय को गर्व महसूस होता है। पौराणिक कथानकों का भारत, दंतकथाओं, किस्से-कहानियों का भारत, कौरवों-पांडवों के युध्द का गवाह भारत, राम और रामायण को पूजता भारत, जैन, सिख और बौध्द धर्म की जन्मस्थली भारत, अद्भूत विविधताओं से भरा भारत।

भारत के बारे में कहा जाता है कि कोस कोस पर पानी बदले, हर चार कोस पर वाणी। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की सबसे बड़ी विशेषता है विविधता।

मंदिरों की आरती, मस्जिदों की अजान, गुरुद्वारों के शबद कीर्तन और चर्च की प्रेयर में बसता भारत।

दुनियाभर में सबसे ज्यादा फिल्में हमारे यहां ही बनती है तो सबसे ज्यादा टीवी चैनल भी भारत में ही है।

भारत यानि ज्ञान से भरा, प्राचीन काल से लेकर आज तक दुनिया भर में भारत के लोगों ने अपने ज्ञान, मेहनत और प्रतिभा के बल पर एक अलग जगह बनाई है।

टिप्पणियाँ लिखे

आपका ईमेल प्रकाशित नहीं किया जाएगा।